मेरी माँ मेरे सामने ही चुद रही

मैं 19 साल की हु, मेरा नाम कविता है, मैं दिल्ली में रहती हु, आज मैं आपको अपने परिवार की ही कहानी बता रही हु, मेरी माँ का नाजायज रिश्ता था अरुण अंकल के साथ, और इस रिश्ते को जायज करने बाले भी मेरे पापा ही थे, मैं आज तक समझ नहीं पाई की आखिर ये क्या रिश्ता है, कौन सी बात है,

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं


 क्या वजह है जिसके चलते मेरे पापा मेरी माँ को शेयर कर रहे है, कौन ऐसा मर्द होगा जो अपनी पत्नी को किसी और मर्द के बाहों में भेजेगा. मैं आपको पूरी कहानी सुनती हु, ये कहानी नहीं मेरे ज़िंदगी का एक पहलु है, ये सच है मैं कसम खाती हु, ये बात किसी और से कह नहीं सकती थी इस वजह से मैं आज नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे दाल रही हु, मैं अपने परिवार का तमाशा भी नहीं बनाना चाहती हु, पर मैं अपने मन में इस बोझ को ज्यादा देर तक नहीं रख सकती, मुझे अपने मन को हल्का करना है. आपसे मेरा नम्र निवेदन है की कोई गलत कमेंट ना करें.

मेरी माँ की शादी सत्रह साल की उम्र में ही हो गई थी, मैं जल्दी ही हो गई, मेरी पढाई लिखे बहुत अच्छे तरीके से तो नहीं हुई, क्यों की मेरे घर की हालात ठीक नहीं थे, माँ पापा हमेशा लड़ते रहते थे, मैंने जैसे तैसे पढाई अभी तक कर रही हु, मेरी माँ पढ़ी है, वो दिल्ली में ही रह कर पढ़ी है, पर पापा सिर्फ दसवी पास है, मेरा पैतृक गाव वृन्दावन के पास है, मेरे पापा जब दिल्ली में काम करते थे तो मेरी माँ भी शादी के पहले वही पर काम करती थी, दोनों में प्यार हुआ और घर बालों के मर्जी के बिना शादी हो गई, दोनों दिल्ली में ही रहने लगे. आपको मेरी फैमिली का संक्षित विवरण मिल गया है. अब मैं सीधे कहानी पर आती हु.

जब मैं छोटी थी, तो पापा और माँ के बीच में हमेशा अनबन रहता था, माँ और पापा को कभी भी सम्मति से रहते नहीं देखा था, पर पापा उस दिन मम्मी से बहुत ही प्यार से बात करते थे, जिस दिन अरुण अंकल आने बाले होते थे, जब वो घर पे आते थे, पापा मुझे पड़ोस बाले आंटी के यहाँ भेज देते थे, पर मैं बहाना बना के आ जाती थी, जब वापस आती थी तो मुझे अपने माँ पे बहुत तरस आता था, पापा छत पर चले जाते थे, कमरा बंद होता था, चूड़ियों की खनक और आअह आआह आआआह धीरे धीरे धीरे, आआअह आआअह की आवाज अंदर कमरे से आती थी, मैं बहुत परेशान हो जाती थी पर कुछ बोलती नहीं थी, यही सिलसिला चलता रहा. मैं वैसे ही दरवाजा देख कर और वो अवजा सुनकर वापस आंटी के यहाँ चली जाती थी, आती तब थी जब कोई फिर बुलाने आता था, वापस आके मैं माँ को देखती थी, उनके हाथ में कांच की चूड़ियों के निशान होते थे, और कई बार चूड़ियों के टूटने की वजह से जख्म होता था, मैं पूछती थी, की माँ ये कैसे हुआ, तो वो है के टाल देती थी , अरे ये ये तो बेलन से चूड़ियों में लग गया था चूड़ी टूटने की वजह से कांच गड गया था.

मेरा कोमल मन भी सब कुछ समझता था, पर मैं लाचार थी, जहा सावन ही आग लगाये तो कौन बुझाए, यही गाना मुझे याद आने लगता था, जब मेरा बाप ही अपनी पत्नी को गैर मर्दों के पास सेक्स करने के लिए मजबूर करता था, तो मैं क्या कर सकती थी. सिलसिला चलता रहा, एक बार तो हद हो गई, माँ नानी के यहाँ जाने के बहाने वो अरुण अंकल के साथ हनीमून पे गई थी, टाइट जीन्स और शर्ट पहन कर, मेरी माँ देखने में काफी सुन्दर है, काफी हॉट है, पर वो जीन्स वगैरह नहीं पहनती थी, पर उस कुत्ते की वजह से मेरी माँ को उसके साथ हनीमून पे जाना पड़ा, जब माँ वापस आई तो उनके पास महंगे महंगे गिफ्ट थे, गाल में साफ़ साफ़ और दांत के निशान थे. जब वो निशान पापा देखे तो खुश हुए थे बोले थे लगता है सब कुछ अछा रहा, है ना आशा, माँ ने घूरते हुए नजरों से देखि, और बोली हां जब तूने मुझे दलदल में डाल ही दिया तो करें भी तो क्या.

मैं बड़ी हो चुकी थी, अब सब बात और भी साफ़ साफ़ समझने लगी थी, जब पापा ऑफिस में होते तो अरुण अंकल फ़ोन आता था माँ के मोबाइल पे, पर माँ भी उस फ़ोन को उठाने से हिचकिचाती थी, मैं कई बार पापा को बोली की पापा “क्या आपके दोस्त का फ़ोन आते रहता है, माँ परेशान हो जाती है आप मना क्यों नहीं करते है. मैं कुछ साफ़ साफ़ बोल भी नहीं सकती थी, वो बड़े प्यार से मुझे समझा देते थे, और कहते थे की मैं बोल दूंगा की फ़ोन नहीं करने के लिए. एक दिन की बात है, पापा को मैंने अरुण अंकल से बात करते हुए सूना की, अरुण अंकल को कल बारह बजे बुला रहे थे, और कह रहे तो की मैं ऑफिस चला जाऊंगा, और मैं अपनी बेटी को भी कही बाहर भेज दूंगा, कुछ पैसे दे दूंगा और कहूँगा तो शॉपिंग कर आओ, शायद अरुण अंकल बोले ठीक है, और उन दोनों ने बात फिक्स कर ली, हुआ भी यही, पापा ने मुझे हजार के एक नोट दिए और बोले मेरी प्यारी बेटी तू अपने लिए कपडे ले आ, तुम्हे कॉलेज के लिए थोड़े कपडे काम पड रहे है, तू बार बार एक ही ड्रेस को पहनती है.

मैंने समझ गई की मुझे क्यों भेजा जा रहा था, रात में पैसे दे दिए, और सुबह मुझे करीब १० बजे जाना था, मैं भी चली गई, पापा भी चले गए, माँ भी बाजार चली गई, पापा को कहते सुना की तुम १२ बजे से पहले ही आ जाना वो माँ को कह रहे थे, माँ बोली ठीक है, मैं घर से बाहर तो गई पर 11 बजे ही वापस आ गई, और मैं पीछे दरवाजे से कमरे के अंदर आ गई, पीछे का गेट का चाभी मेरे पास था, कमरे में दो दरवाजा था, मैं कमरे में दाखिल हो गई, मैं गेट बंद ही रहा था, माँ के आने की आहात हुई बारह बज चुके थे, मैं तुरंत ही पलंग के निचे हो गई, पलंग थोड़ा उचाई पर था, अंदर अँधेरा था कोई मुझे देख नहीं सकता था, माँ ने दरवाजा खोली और अंदर आई, अरुण अंकल भी साथ थे, दरवाजा बंद कर दी, रूम में लाइट जला ली, उसके बाद अरुण अंकल माँ को अपने बाहों में भर लिया, और कह रहे थे, गजब की चीज हो मेरी जान, तुम मुझे पागल कर दोगी, तेरे बिना मेरी ज़िंदगी कुछ भी नहीं है,

माँ कुछ भी नहीं बोल रही थी, धीरे धीरे मैंने सारे कपडे को निचे गिरते देखा पहले साड़ी, फिर ब्लाउज, फिर ब्रेसियर, फिर पेटीकोट, फिर माँ की पेंटी, उसके बाद बारी बारी से अरुण अंकल के कपडे, दोनों लेंगे खड़े थे, माँ की मोटी मोटी जांघ तक दिख रहे थे, उसके बाद अरुण अंकल, माँ को उठा के पलंग पे लिटा दिए, मेरी कानो में सिर्फ आआह आआअह आआआह, और पलंग की चों चों की आवाज आ रही थी, करीब १ घंटे तक मैंने अपने आप को किस तरह से समझाया क्या बताऊँ, मेरी माँ को एक गैर मर्द चोद रहा था, माँ चुद रही थी, अरुण अंकल जैसे कह रहे थे माँ चुप चाप कर रही थी, और एक जोर सी आह के बाद दोनों शांत हो गए, अरुण अंकल कपडा पहने और, चले गए, माँ रोते रोते एक एक कर के सारे कपडे पहनी, मैं भी अंदर चुपचाप रो रही थी. जब माँ बाथरूम गई तो मैं आने का बहाना किया, माँ बोली आ गई बेटी, मैंने कहा हां माँ पर कपडे नहीं लाई, कोई नै डिज़ाइन नहीं था.

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं

शाम को पापा आये, हस्ते हुए माँ से पूछा सब ठीक रहा, माँ चुचाप रसोई में चली गई और खाना बनाने लगी, पापा को जवाव दिए बिना. अब क्या बताऊँ दोस्तों मुझे समझ अभी तक नहीं आया है की क्या रिश्ता है, ये थर्ड पर्सन क्यों है इन दोनों के ज़िंदगी में, आखिर क्या मजबूरी है, प्लीज मुझे हेल्प करें, बताएं, कमेंट से, प्लीज मैं आपकी आभारी रहूंगी.




astoria xxx.hindi.book. jugaad.didi.bhan मनीषा की nid me cudai च**** सेक्स कहानियांpadoshan ki chut me land dala Hindi kahaniaAunty mote lund se chudi chut suj gyi thimangalsutra between clevageantarvasna photoबेटी और बहु को चुदाई किये घर मेंमाँ बेटी की चुदाई ऍक साथ कहानीxxx vido2019 9इनच का लड वालिsirf kurta phna hua bhabi xnxxDehati aurat pdosi si codwati hi ghar mi sexi xxxbachhe k liye dardanak chudai kar baya story in hindiरिशतो मे चुदाई कि कहानी दिखयेsexstorimomebahanजन्मदिन पर घर में सामूहिक चुदाईANTERVSNA ANTERVSNA2 KAMVSNA LESBUN MASTRAMGf.saxe.ladhke.ka.opane.dekhaoरजाई में चुद गई कहानियांपति का टरासफर मै रंडी बन गई चोदवा केदोस्त की विधवा माँ antarvasnaboor ko maje se chatte huwe picxxx creme pron rande chut chatne wale picबिहारी वियफमैडम स्टूडेंट्स कढ़ाई स्टोरीज हिंदी मेंअन्तर्वासना मस्तराम नेट कमसीन कुवाँरी चुत की सीलतोड चुदायdidi ke sexy suit me bra strap dekh antervasnamausi ki behan ki chudai kaise karen patakheSex ke kahani padhani hai sut hindi me land aur boor ke/1917/%E0%A4%AA%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A5%81%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%97%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A4-%E0%A4%A6%E0%A5%82%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%94%E0%A4%B0%E0%A4%A4-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A4%A8%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%88behanbhaisexstorieshindiसफ़र मैं मस्ती हिन्दीसेक्स स्टोरीबस में भाई ने मोटा लुंड चुसाया और मूत पिलायासकसी विडियो मोटू गाड मुसलमानी मम्मीभाई ने मेरा पानी निकला कहानीमै चोद नही सकता चुदवाले दोस्तका लण्ड से सेक्सी कहानीजीजू ने गाड़ मारा होली मेंब्लाउज में हाथ डालकर दूध दबायेसची कहानी पोती की चुदाईsex hindi story telब्लू हिन्दी चोदाईwww.xxxwwwजिजा ने चोदा सालि कोसेकसीचूत चुदवाने बाली का नँबर sususexkahaniशादी सुदा दीदी बचचे के लिये चुदायाफूद्दी की चुद्बीlarki man Nahi larka jabrdasti Kiya air larki Rome lagiदेवर ने ऊसके भाई की पत्नी कौ चौदाHot sex potai nai pakda storyसेक्सी kahneya हिंदी ajnbe kerydarमां से बदला बुर चोदी सेक्स की कहानियांहिंदी इंग्लिश सेक्सी मूवी बीएफ जिन लड़कियों को दूध निकलता हो वह वाली बीएफchoti काशी xxxsexvidosChikhe nikalne wale sex vidiomuha me bur se pani girya xxnx comdesi.saxy.kuwari.sardarni.ki.ladki.ne.apni.sheel.tudvayi.kahani.purisexkajani dalal rep/276/.Behen-Chodi-Bhabhi-Ki-Madat-Seचाची के घर रात को चाची दुध देने आई तो sex kia video hindi audioPathan.oar.didi.antrwasna.hindi.sexमाँ बोली बेटा तेरा लँड तो बहुत बडा हैप्रेग्नेंट दीदी को चोदा 2sexstoryneeluईडीयन सेकसी पीचर साडी वाली भाबी घर पेबुलकर चौदSamuhik group sax pariwar in hindiमाँ को गलती से चोदाsexey storyPati ke samne dushre sex karwaiपती के सामने दूसरे से चूदवाती औरत सेक्सी पोर्न पोर्न वीडियोबेटे ने माँ कि चुत पर तेल लगाया XNXX काहानी लिखा हुवाxxx video Choti umer faking video fest time faking girl dian Hindiचुदाईआजकीmosi ko sapping karakar choda kahaniamrekangarlsxxxsex chodhasexy storyरति की सेक्सी बदन अंतरवासनामेरी बीबी राजश्री की चुदाई Antavashnaपति से फ़ोन पर करते हुए ससुर से चुद्वाती बीबी की कहानीdeshi.chachi.ko.jamkar.aormomko.sex.kiya.hindhi.kahaniबुर फ़टी मोटे कड़क लण्ड से कहानीmaa lund dekhke hiranxxxkahaniyahindeeशर्त हारने पर बहन बनी रंडी ग्रुप चुदाई कहानी इन हिंदीmom ko jagakar chodaकहानी चुदा के आ गयीमेरी बुर मे नौकर का कठोर लंड13 साल कि सगि बहन को 10 इच लंड से चोदाhotsexstory. xyzचुत मेचुत फुदी लँड की फोटोससुर ने दीदी की एक फुट के लंड से चुत चुदाई कहानियाchut fadhi bhude ne dardnak चुदाई सेक्सी कहानीpunjabi aunty ka bada chootad deka सती सावित्री मॉ की चुदाई की कहानीgarib pariwar ki antarvasnahindisexkahaniwww.bolane bali rajai ek japani kahaniकोमल भाभीसेकसविडियोxxx sexy kahani bus bhid meXxx बी एफ पीचर लडको बाली झाट के बालladki ko pakadkar chodkar vehosh kiya in hindi kahani